टोल टैक्स नियम मे बड़ा बदलाव, नितिन गडकरी ने किया बड़ा ऐलान, अब नहीं कटेगा पैसा!

टोल टैक्स नियम

टोल टैक्स नियम: हाईवे पर सफर करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है। अक्सर हाईवे पर सफर करने वालों को टोल टैक्स देना पड़ता है, लेकिन केंद्र सरकार जल्द ही टोल टैक्स से जुड़े नियमों में जल्द ही बदलने जा रही है। मंत्री गडकरी ने इसकी जानकारी दी है।

टोल टैक्स नियम नितिन गडकरी : हाईवे पर सफर करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है. ज्यादा हाईवे पर सफर करने वाले लोगों को टोल टैक्स देना पड़ता है, लेकिन केंद्र सरकार जल्द ही टोल टैक्स से जुड़े सभी नियमों को बदलने जा रही है। मंत्री गडकरी ने इसकी जानकारी दी है। आपको बता दें कि यह टोल टैक्स से जुड़ा बिल लाने की योजना बना रही है।

तकनीक के इस्तेमाल पर जोर दिया जाएगा। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने जानकारी में बताया है कि टोल टैक्स न चुकाने पर किसी भी तरह की सजा का ऐसा कोई भी प्रावधान नहीं है. इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में टोल टैक्स लेने के लिए तकनीक के इस्तेमाल पर भी हूत जल्द जोर दिया जाएगा।

यह भी पढ़े:- Amul Butter Shortage: क्यों बाजार में नहीं मिल रहा है अमूल का मक्खन? जानिए क्या है पूरी सच्चाई

नितिन गडकरी ने आगे कहा है कि अभी तक टोल नहीं चुकाने पर सजा का प्रावधान नहीं है, लेकिन टोल को लेकर बिल लाने की तैयारी चल रही है. अब आपके बैंक खाते से सीधे टोल टैक्स कटेगा। इसके लिए अलग से कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी।

सीधे खाते से कटेगा पैसा

नितिन गडकरी ने बताया है कि अब आपको टोल टैक्स नहीं देना होगा, रकम सीधे आपके खाते से कट जाएगी. इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘2019 में हमने नियम बनाया था कि कारें कंपनी फिटेड नंबर प्लेट के साथ आएंगी। इसलिए पिछले चार साल में जो वाहन आए हैं उन पर अलग-अलग नंबर प्लेट लगी है।

वर्ष 2024 से पहले देश में 26 ग्रीन एक्सप्रेसवे बनकर जल्दी से तैयार होने वाले है और सड़कों के मामले में भारत अमेरिका के बराबर हो जाएगा। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में टोल टैक्स वसूलने के लिए तकनीक के इस्तेमाल पर भी जोर दिया जाएगा।

यह भी पढ़े:- सरकार ने किए 10 लाख राशन कार्ड बंद, इन लोगों को नहीं मिलेगा मुफ्त अनाज

इस समय क्या नियम हैं?

नितिन गडकरी ने कहा कि कोई भी किसी प्रकार के समय में अगर कोई व्यक्ति टोल रोड पर 10 किमी की सफर भी तय करता है तो उसे 75 किमी का भुगतान देना होता है, लेकिन नई व्यवस्था में तय की गई दूरी के हिसाब से ही दूरी तय की जाएगी।

उन्होंने इस बात से इनकार किया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) वित्तीय संकट से गुजर रहा है। उन्होंने कहा कि एनएचएआई की स्थिति बिल्कुल ठीक है और इसके पास पैसे की कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि पहले दो बैंकों ने कम दरों पर कर्ज की पेशकश की थी।

यह भी पढ़े:- प्यार के लिए टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी